Help Desk

ISO 9001-2008
3456-QMS-5675

H.O:- GANDHI GALI GOLGHAR-GORAKHPUR U.P PIN 273001 HELP LINE NO. +919453591912 EMAIL-ID: cibindia11@gmail.com Website: www.cibbureau.in                            Help-Line & Whatsapp No:- 9453591912 (24/7)

विशेष सूचना = सी ० आई ० बी ० एक राष्ट्रीय संगठन है | जिसमे संविधान का अनुपालन करना हमारा नैतिक कर्त्तव्य है| इसके सभी सदस्य अवैतनिक एवं स्वैछा से राष्ट्रीय सेवा हेतु स्वयं संकल्पित है | यदि कोई भी सी ० आई ० बी ० के नाम पर संविधान विरोधी काम करता है, तो वह स्वयं जिम्मेदार होगा | अनुदान राशि संस्था के खातें में जमा कर रशीद प्राप्त करें | नगद ना दें |- निदेशक :-

MESSAGES



प्रबल एवं अति महत्वकाक्षायें जैसे प्रचंड इच्छाओं को जन्म देती है और अनन्य दिशाओं को खोलकर उन्मुख जीवन की ओर अग्रसर होने को उद्रित एवं बेचैन करती है वहीं इसमें आने वाली रूकावटें, करवटें एवं कमतरता गलत रास्ते पर चलने के लिए मजबूर भी करती है यहीं पर अपराध का बीजारोपण होता है और एक दिन वह वट वृक्ष के रूप में जयाराम की दुनिया के दर्शन कराता है। दरिद्रता, भुखमरी और लाचारी कुछ हद तक छोटे मोटे अपराध सम्पन्न कराती है, पर बड़े पैमाने पर अपराध सिर्फ और सिर्फ अधिक और अधिक की चाह ही कराती है जिससे बड़े घोटाले, भ्रष्टाचार,, सामुहिक हत्या, लूट, फिरौती , बाल अपराध, देह व्यापार, देश द्रोह, मनुष्य व्यापार, मानव अंग तस्करी आदि बड़े लेवल के अपराध घटित हो रहे है। आज का युवा अपने कर्मो पर कम अन्य एवं आसान रास्तों से सफलता पाने की चाह अधिक रखता है और इसी कारण भटक जाता है और यही भटकाव की स्थिति उसे मानसिक अवसाद की तरफ ले जाकर गलत काम करने को उकसाती है। अंततः कहीं ना कहीं स्कूल एवं कालेज लेवल पर इन विषयों पर गोष्ठी का आयोजन, समाज को बचानें के लिए होना नितांत आवश्यक हो गया है। हर कालेजों में तरह-तरह के ना सिर्फ खेल, शारीरिक विकास के लिए हो बल्कि मानसिक विकास के भी कार्यक्रम हो जिसमें उत्कृष्ट विचारों को सहारा जाय और राष्ट्रीय लेवल पर सम्मान कराया जाय। हमारा संगठन यह संकल्प लेता है कि अपराध को जन्म लेने से पहले ही उसे समूल नष्ट करने की तरफ ले जाने का सफल प्रयास करेगा और ना सिर्फ जिला पर , मंडल स्तर पर भी युवा, शैक्षणिक संस्थानों में अपराध से कैसे बचें, युवा एवं राष्ट्र अपराध, स्वास्थ्य मानसिकता एवं सृजनता, मौलिक अधिकार एवं राष्ट्र भावना आदि तमाम विषयों पर संगोष्ठि प्रतियोगिता, भाषण आदि का आयोजन करायेगा।
’’ हम मेहनत का दीप जलाकर नया उजाला करना सीखे। ’’
’’जय जवान, जय किसान , जय विज्ञान’’